• banner

रूमी गेट

अवध के नवाबों का शहर लखनऊ भी कई आकर्षक और भव्य स्मारकों का केंद्र है। इनमें 1784 में नवाब आसफ़-उद्-दौला द्वारा बनवाया गया 60 फीट ऊंचा रूमी दरवाज़ा भी शामिल है। बताते हैं कि नवाब आसफ-उद-दौला ने 1784 के अकाल के समय लोगों को रोजगार प्रदान करने के लक्ष्य से इसका निर्माण कराया था। कहते हैं कि इसकी डिज़ाइन तुर्की के प्राचीन इस्तांबुल शहर के भव्य दरवाज़े की हूबहू प्रतिकृति है, इसीलिए इसे तुर्की गेट के नाम से भी जाना जाता है। पुराने दौर में रूमी दरवाज़ा पुराने लखनऊ का प्रवेश द्वार हुआ करता था, लेकिन आज यह लखनऊ की पहचान और उसका प्रतीक है।