• ताजमहल

ताजमहल

अपनी बेगम मुमताज़ महल की याद में बादशाह शाहजहां ने ताजमहल का निर्माण कराया था।

ताज महल की ऑफिसियल वेबसाइट देखें

ताजमहल परिसर के उत्तर में स्थित, ताजमहल एक विश्व प्रख्यात स्मारक है।

दुनिया के इस अजूबे की वास्तुकला की कई खूबियों में से एक यह भी है कि चारों तरफ से कहीं से भी इसे देखने पर यह एक जैसा ही लगता है। इसके अलावा चारों तरफ के प्रवेश द्वारों पर उकेरी गई कुरान की आयतें नीचे से लेकर ऊपर तक देखने में एक ही आकार की लगती हैं।

प्रेम के इस अद्भुत प्रतीक के निर्माण के लिए शाहजहां ने इटली से लेकर पर्शिया तक के दक्ष कारीगर बुलवाए थे।

ताजमहल सिर्फ अपनी सुंदरता के लिए ही विख्यात नहीं है बल्कि निर्माण के लिए गहन प्लानिंग और डिज़ाइन भी इसे अद्वितीय बनाती है।

संगमरमर के पत्थरों पर बारीक नक्काशी के अलावा कीमती पत्थरों की पच्चीकारी लोगों का बरबस ध्यान खींच लेती है। लाजावर्द, स्फटिक, मोती, गोमेद और पन्ना से खूबसूरत बेल-बूटे और ज्यामितीय डिज़ाइन उकेरी गई हैं। यमुना किनारे बने इस सम्मोहक मकबरे का निर्माण 1631 में शुरू हुआ। लगभग 20 हजार मज़दूरों ने सम्पूर्ण परिसर को दिन रात मेहनत करते हुए पूरा करने में लगभग 22 साल लगाए।