• banner

रेजीडेंसी

लाइट एंड साउंड शो

31 दिसंबर, 2021 को शुरू हुआ

समय: शाम 06:30 बजे से शाम 07:30 बजे तक

टिकट 100/- प्रति व्यक्ति

फाइल साइज : 1एमबी | भाषा:अंग्रेजी

लाइट एंड साउंड शो पीडीऍफ़

1780-1800 में नवाब सआदत अली खान के शासन के दौरान इसका निर्माण ब्रिटिश निवासियों के लिए किया गया था। इसके परिक्षेत्र में आवासीय क्वार्टर, शस्त्रागार, अस्तबल, औषधालयों, पूजा स्थानों सहित कई इमारतों की श्रंखला है।

1857 में आजादी की पहली लड़ाई की गवाह रेजीडेंसी रही है। यह लड़ाई 1 जुलाई को शुरू हुई और 17 नवम्बर 1857 तक जारी रही।

रेजीडेंसी के मुख्य द्वार से गोमती नदी का सौंदर्य नज़ारा देखने को मिल सकता है। यहाँ आज भी आजादी के जंग की तमाम निशानियों को संजोए हुए खंडहर के रूप में सीढ़ीदार लॉन और बगीचों से घिरा हुआ है। यहां कब्रिस्तान भी है जिसमें 2000 पुरुषों, महिलाओं और बच्चों सहित सर हेनरी लॉरेंस की भी कब्र है जिनकी मौत घेराबंदी के दौरान हुई थी। इस इमारत के परिसर में एक संग्रहालय भी है।