• चीनी का रौज़ा

चीनी का रौज़ा

यह शाहजहां के प्रधानमंत्री और फ़ारसी कवि अफज़ल खान आलमी उर्फ मौला शुक्रुल्लाह शीराज़ी का मकबरा है। इसका निर्माण 1635 में हुआ था। इसका निर्माण तत्कालीन फारस (ईरान ) की वास्तुकला के अनुरूप ग्लेज़्ड टाइल्स से हुआ है।