• banner

छोटा इमामबाड़ा

इस इमारत के बाहरी हिस्से में सुनहरा गुंबद और उस पर की हुई महीन नक्काशी इसे मुगल वास्तुशिल्प में बिल्कुल अलग पहचान दिलाती है। इसे खास अवसरों पर रौशनी से नहलाया जाता है, लेकिन उससे पहले इसकी साज-सज्जा भी की जाती है।

छोटा इमामबाड़े को हुसैनाबाद इमामबाड़े के नाम से भी जानते हैं। यह बड़े इमामबाड़े के पश्चिम में स्थित है। इसका निर्माण नवाब मोहम्मद अली शाह (1837-42) ने कराया था। डिज़ाइन के मामले में यह ज़्यादा अलंकृत है।इसमें शानदार गुंबद और कंगूरेदार मेहराबें हैं। यहां लगे झाड़-फानूस खास बेल्जियम से मंगवाए गए थे। झाड़-फानूस के आलावा सोने की परत चढ़े फ्रेम वाले शीशे और रंगीन प्लास्टर इसकी आंतरिक साज-सज्जा में चार चांद लगाते हैं।

Tमोहम्मद अली शाह और उनके परिवार के अन्य सदस्यों की मज़ार इमामबाड़े के भीतर ही है।